करुण नायर को टीम से बाहर करने के बाद विराट ने दी सफाई, युवा खिलाड़ियों को दिया खास संदेश

वेस्टइंडीज़ के खिलाफ चुनी गई टेस्ट सीरीज़ पर लगातार सवाल उठने के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली चयनकर्ताओं के बचाव में आए हैं.

कल से वेस्टइंडीज़ के खिलाफ राजकोट में शुरु होने जा रहे पहले टेस्ट से ठीक पहले आज प्रेस कॉंफ्रेंस में टीम सलेक्शन पर चयनकर्ताओं का बचाव करते हुए कहा कि टीम मैनेजमेंट कैरीबियाई टीम के खिलाफ बेंचमार्क सेट करना चाहता है.

कोहली ने कहा, ‘हम वेस्ट इंडीज के खिलाफ सीरीज में बेंचमार्क सेट करना चाहते हैं. कुछ युवा खिलाड़ी शीर्ष क्रम में आते हैं तो उन्हें अपना कौशल दिखाने का अवसर मिलता है. मुझे ये लगता है कि हमारे यंगस्टर्स के पास बेहतरीन करने का ये अच्छा मौका है.’

टीम चयन में एक सवाल करुण नायर को टीम से किए जाने पर भी खड़ा हुआ है. टीम इंडिया के दूसरे तीहरा शतकवीर करुण नायर को इंग्लैंड दौरे पर ले जाया गया. लेकिन वहां पर वो सिर्फ बैंच की शोभा बढ़ाते नज़र आए. नायर को पांच टेस्ट मैचों की लंबी सीरीज़ में एक भी मौका नहीं मिला. लेकिन उससे भी बुरा नायर के साथ तब हुआ जब उन्हें बिना खिलाए ही वेस्टइंडीज़ के खिलाफ टीम से बाहर कर दिया गया.

पीसी में विराट से करुण नायर को टीम से बाहर करने पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा ‘सलेक्टर्स पहले ही इस बारे में जवाब दे चुके हैं और ये मेरे लिए जवाब देने के लिए उचित स्थान नहीं है. सलेक्टर्स अपना काम कर रहे हैं. किसी का सलेक्शन करना मेरी जिम्मेदारी नहीं है.’ साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि सबकुछ सिर्फ एक जगह से नहीं होता.

युवा बल्लेबाज़ हनुमा विहारी, मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शॉ को टीम में लिए जाने पर विराट ने पॉज़ीटिव इंटेंट दिखाते हुए कहा, ‘पृथ्वी, हनुमा विहारी और मयंक ने घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन किया है.’

साथ ही विराट ने अपने ओपनर्स के लिए भी ये संदेश दे दिया कि उनके पास मौका है कि वे अपनी क्षमता का प्रदर्शन करें यह उनके लिए अच्छा मौका है. विराट ने कहा, ‘जो टीमें टेस्ट मैच जीतती है उसमें टॉप ऑर्डर का योगदान बहुत अहम होता है. टॉप-ऑर्डर और लोअर ऑर्डर का योगदान मैच के लिहाज़ से बेहद ज़रूरी होता है. इंग्लैंड भी हमारे खिलाफ अपने निचलेक्रम के बल्लेबाज़ों के प्रदर्शन की वजह से ही जीता.’

विराट ने साथ ही इन खिलाड़ियों को संदेश देते हुए कह दिया कि उनके पास ये सुनहरा अवसर है और उन्हें दबाव से उबरते हुए इसका फायदा उठाना चाहिए.